10 अप्रैल 2009

सरकारी अस्पताल

दोस्तों,
नमस्कार
क्या लिखू दो तीन दिनों से समझ नही आ रहा था लेकिन जब आज जिला अस्पताल गया तो ऐसा लगा कि और कुछ लिख ही नही सकता क्यो कि जब मैंने वहा अपना कदम रखा तो ऐसा लगा कि लोग वहा पर मरीजों कि जान के साथ जिस प्रकार खिलवाड़ कर रहे थे जैसे वो इंसान नही कोई प्रयोग करने कि चीज़ हो, और तो और कमीशन खोरी का ऐसा नंगा नाच कही नही देखा,ये हाल है छत्तीसगढ़ राज्य के राजनांदगांव शहर का,यहाँ के डाक्टर महंगी से महंगी दवाई सिर्फ़ इसलिए नही लिखते कि मरीज़ कि जान बच जाए बल्कि इसलिए लिखते है कि उनका ज्यादा से ज्यादा कमीशन बन सके,उस पर आलम ये कि जिस मरीज़ को जो डाक्टर देख रहा है उसको वही देखेगा दूसरा डाक्टर तो हाथ नही लगा सकता भले ही मरीज़ मर जाए .अरे जनाब उसका तो एक ही कारण हो सकता है दूसरा डाक्टर दवाई लिखेगा तो पहले डाक्टर का कमीशन मार नही खा जाएगा सीधी सी बात है भाई दाल रोटी कहाँ से चलेगी ,खैर मैं तो सर पर पैर रख कर भगा और यही सोचता गया कि जो लोग बेचारे गाँव से इलाज़ कराने आते होंगे वो कैसे करते होंगे?सब कुछ चूस लेने के बाद उनको रिफ़र कर दिया जाता है बड़े अस्पतालों कि और ,और उसका भी कमीशन ले लेते होंगे उन अस्पतालों से.
राम राम फिर कोई अजब चीज़ देखने में आएगी तो आप लोगो को जरुर बताऊंगा.

9 टिप्‍पणियां:

  1. ड्रीम कहाँ अब स्वीट है दिखलाया जो दृश्य।
    लगभग पूरे देश में ऐसा ही परिदृश्य।।

    सादर
    श्यामल सुमन
    09955373288
    मुश्किलों से भागने की अपनी फितरत है नहीं।
    कोशिशें गर दिल से हो तो जल उठेगी खुद शमां।।
    www.manoramsuman.blogspot.com
    shyamalsuman@gmail.com

    उत्तर देंहटाएं
  2. आप हिन्दी में लिखते हैं. अच्छा लगता है. मेरी शुभकामनाऐं आपके साथ हैं

    उत्तर देंहटाएं
  3. sweet_dream293
    pawan ji bahut bahut dhanywad jo aapne apna kimtee samay nikal kar hame diya.aage aour bhi achha likhne ki koshis karunga.

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुंदर…..आपके इस सुंदर से चिटठे के साथ आपका ब्‍लाग जगत में स्‍वागत है…..आशा है , आप अपनी प्रतिभा से हिन्‍दी चिटठा जगत को समृद्ध करने और हिन्‍दी पाठको को ज्ञान बांटने के साथ साथ खुद भी सफलता प्राप्‍त करेंगे …..हमारी शुभकामनाएं आपके साथ हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत अच्छा लिखा है . मेरा भी साईट देखे और टिप्पणी दे
    वर्ड वेरीफिकेशन हटा दे . इसके लिये तरीका देखे यहा
    http://www.manojsoni.co.nr
    and
    http://www.lifeplan.co.nr

    उत्तर देंहटाएं
  6. सदीप जी
    कुछ आप लिखिए भाई ,यह दोनों लेख तो मैं पहले ही पढ़ चुकी हूँ ,अब क्या कमेन्ट करूं ,आपने कहा फसलों का बीमा होता है ,पूरी जानकारी दें, आपके आस-पास कोई जडी -बूटियों की खेती करना चाहे तो उसे हमसे संपर्क कराएं ,कोई अंग्रेजी दवाएं लेकर थक गया हो और नीरोग न हो पा रहा हो तो बताएं
    जय हिंद

    उत्तर देंहटाएं
  7. sandeep bhai namaskar, aap kuch is desh mein badhti hui mahangai ke bare mein kuch likhen jaise petrol, onion,edible oil,etc...... 16-01-2011 sharma ji

    उत्तर देंहटाएं